Taking Care of Oily Skin

ऑयली स्किन महिलाओं की बड़ी समस्‍या है। कई महिलाओं को अपने चेहरे पर चमक दिखाई देती है, जो उनके मेकअप और मॉश्‍चराइजर को नुकसान पहुंचाती है। वक्‍त की कमी के चलते यह समस्‍या और ज्‍यादा बढ़ गई है। हमारे आहार में पोषण की कमी ने इस समस्‍या में इजाफा ही किया है। खुद को बचाने के लिए त्‍वचा अधिक मेहनत करती है और परिणामस्‍वरूप वह तेल का निर्माण करने लगती है।

ऑयली स्किन के नुकसान

ऑयली स्किन वाले लोगों को चेहरे पर चिपचिपाहट महसूस होती रहती है। शॉवर के फौरन बाद उनका चेहरा ऑयली और मैला लगने लगता है। ऑयली त्‍वचा मिट्टी और मैल को जल्‍दी पकड़ लेती है और साथ ही इससे आपका मेकअप भी बहुत जल्‍दी पिघल जाता है। ऑयली स्किन वाली महिलाओं को दिन में कई बार मेकअप लगाना पड़ता है। मैल और मिट्टी के जो कण त्‍वचा के साथ चिपक जाते हैं, वे आगे चलकर एक्‍ने और त्‍वचा संबंधी अन्‍य परेशानियों का कारण बनते हैं।

अनुवांशिक

अगर आप कायदे से हर ब्‍यूटी टिप्‍स का पालन कर रहे हैं। और इसके साथ ही आप स्किन के ऑयल प्रोडक्‍शन की संभावनाओं से बचने के सभी जरूरी प्रयास भी कर रहे हैं और इसके बाद भी अगर आपकी स्किन ऑयली है, तो इसके लिए आप अनुवांशिकता को उत्‍तरदायी ठहरा सकते हैं। जब ऑयली स्किन अनुवांशिकता के कारण हो, तो इस बात की पूरी संभावना है कि परिवार के हर सदस्‍य को ऑयली‍ स्किन की परेशानी होगी। परिवार के हर सदस्‍य में ऑयल निर्माण करने वाली ग्रंथियां ज्‍यादा होंगी।

स्किन केयर उत्‍पादों का अधिक इस्‍तेमाल

शानदार चमकदार त्‍वचा पाने की चाह में कई लोग क्‍लींजर, एक्‍फोलिएट और स्‍क्रब का जरूरत से ज्‍यादा इस्‍तेमाल करती हैं। इससे रोम छिद्रों पर बेकार का दबाव पड़ता है, जो आगे चलकर ऑयली स्किन का कारण बनता है।

मौसम में बदलाव

गर्मियों और बरसातों में वातावरण में उमस और नमी काफी बढ़ जाती है। इससे त्‍वचा में ऑयल का अधिक निर्माण होता है। सर्दियों के दौरान, त्‍वचा रूखी हो जाती है। उसमें नमी और पोषण की कमी हो जाती है। इसे पूरा करने के लिए त्‍वचा अधिक मात्रा में ऑयल का निर्माण करती है।

दवायें

हॉर्मोन बैलेंस के लिए दी जाने वाली दवाओं के कारण भी त्‍वचा में अधिक ऑयल का निर्माण होने लगता है। इसके साथ ही कुछ दवायें त्‍वचा में नमी की कमी का भी कारण बनती हैं। पोषण के इस असंतुलन से लड़ने के लिए त्‍वचा अधिक मात्रा मे ऑयल का निर्माण करती है।

गलत उत्‍पादों का इस्‍तेमाल

जब महिलायें ऐसे उत्‍पादों का इस्‍तेमाल करती हैं, जो उन्‍हें सूट नहीं करता, तो त्‍वचा अधिक मात्रा में ऑयल का निर्माण करने लगती है। यदि किसी की मिश्रित त्‍वचा है और वह ऑयली स्किन वाला माश्‍चराइजर या क्‍लींजर इस्‍तेमाल करना शुरू कर दे, तो उसकी त्‍वचा अधिक ऑयली होनी शुरू हो जाएगी।

तनाव

तनाव भी ऑयली स्किन की बड़ी वजह होता है। जब व्‍यक्ति तनाव में होता है तो शरीर एंड्रोगन्‍स हॉर्मोन का निर्माण शुरू कर देता है। जिससे ऑयली स्किन होती है।

 

references

source:http://www.onlymyhealth.com/