Jaundice Treatment in Hindi

पीलिया एक ऐसी बीमारी है जो किसी भी व्यक्ति को हो सकती है यह बीमारी मनुष्य के लिए कभीकभी जानलेवा भी हो जाती है इस बीमारी में मनुष्य का खून पीला पड़ने लगता है और शरीरकमजोर हो जाता है इस बीमारी का मुख्य कारण पाचन शक्ति कासही ढंग से काम करना मनुष्य की पाचन शक्ति ख़राब होने केकारण खून बनना बंद हो जाता है और उनके शरीर का रंग धीरेधीरेपीला पड़ने लगता है इसी को हम पीलिया कहते है पीलिया कीबीमारी होने पर रोगी को समय रहते ही इसका उपचार करना चाहिए नही तो ये जानलेवा बन जाती है   पीलिया जैसी बीमारी को ठीककरने के लिए घर में रखी वस्तुओं से इस बीमारी को जड़ से ख़त्मकिया जा सकता है इसका उपचार इस प्रकार है

piliya

पीलिया का इलाज प्याज़ से :

पीलिया की बीमारी में प्याज़ का बहुत ही महत्व है । सबसे पहले एकप्याज़ को छीलकर इसके पतले – पतले हिस्से करके इसमें नींबू कारस निचोड़े तथा इसके बाद इसमें पीसी हुई थोड़ी सी काली मिर्च औरकाला नमक डालकर प्रतिदिन सुबह – शाम इसका सेवन करने सेपीलिया की बीमारी १५ से २० दिन में ख़त्म हो जाती है ।

pyaj

चने से पीलिया का उपचार :-

रात्रि को सोने से पहले चने की दाल को भिगोकर रख दे । प्रातकालउठकर भीगी हुई दाल का पानी निकालकर उसमे थोड़ा सा गुड डालकरमिलाये । और इसको कम से कम एक से दो सप्ताह तक खाने सेपीलिया की बीमारी ठीक हो जाती है । पीलिया की बीमारी को ठीककरने के लिए और भी अनेक उपाए है ।

2

 

पीलिया का आँवला से उपचार :-

एक चम्मच शहद में ५० ग्राम ताजे हरे आँवले का रस मिलाकरप्रतिदिन सुबह कम से कम तीन सप्ताह तक खाने से पीलिया कीबीमारी से छुटकारा मिल जायेगा ।

Amazing-health-benefits-of-amla-juice

इमली से पीलिया का इलाज :-

इमली खाने के अनुसार रात्रि को सोने से पूर्व भिगोकर रख दे ।प्रातकाल उठकर भीगी हुई इमली को मसलकर इसके छिलके उतारकर अलग रख दे । तथा इमली का बचे हुए पानी में काली मिर्च औरकाला नमक मिलाकर दो सप्ताह तक पीने से पीलिया रोग ठीक होजाता है ।

tamarind

पीलिया का लहसुन से इलाज :-

पीलिया की बीमारी में लहसुन भी फायदेमंद होता है । इसलिए कम सेकम ४ लहसुन ले और इन्हे छीलकर किसी वस्तु से पीसकर इसमें२०० ग्राम दूध मिलाये । और रोगी को इसका रोजाना सेवन करने सेपीलिया की बीमारी जड़ से ख़त्म हो जाती है । तथा पीलिया कीबीमारी का उपकार इमली से भी किया जा सकता है ।

Garlic-panacea-many-ailments-news-hindi-india-42846

Source : http://ayurvedhome.blogspot.in